Breaking News
Home / #newsindiadt / एसटीपीआई उत्तर प्रदेश राज्य में आईटी/आईटीईएस उद्योग और स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र के विकास के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है: डीजी एसटीपीआई

एसटीपीआई उत्तर प्रदेश राज्य में आईटी/आईटीईएस उद्योग और स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र के विकास के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है: डीजी एसटीपीआई

एसटीपीआई उत्तर प्रदेश राज्य में आईटी/आईटीईएस उद्योग और स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र के विकास के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है: डीजी एसटीपीआई

उत्तर प्रदेश ग्लोबल इन्वेस्टर समिट 2023 :-

लखनऊ में आईटी, आईटीईएस और डेटा केंद्रों पर सत्र में संबोधन के दौरान  अरविंद कुमार, महानिदेशक, एसटीपीआई ने कहा कि एसटीपीआई का उद्देश्य देश में आईटी/आईटीईएस इकाइयों को बढ़ावा देना है।
वर्तमान में एसटीपीआई के देश भर में 63 केंद्र हैं, जिनमें से 05 यूपी में हैं और 04 आगामी केंद्र हैं। STPI ने 18 दिसंबर 2021 को मेडीइलेक्ट्रॉनिक्स और हेल्थ इन्फार्मेटिक्स में स्टार्ट-अप के विकास के लिए उद्यमिता केंद्र भी बनाया है। मेडटेक के स्टार्ट-अप द्वारा अब तक उत्पन्न राजस्व 155 करोड़ है। मेडटेक ने 12 उत्पाद प्रोटोटाइप, 5 आईपीआर उत्पन्न किए हैं और 100 का प्रत्यक्ष रोजगार और 500 का अप्रत्यक्ष रोजगार सृजित किया है। एसटीपीआई द्वारा देश भर में इमर्जिंग टेक्नोलॉजी में 22 सेंटर ऑफ़ एंटरप्रेन्योरशिप  स्थापित किये गए है जिसमे गेमिंग, एनिमेशन और एवीजीसी जैसे अन्य क्षेत्रों के लिए नार्थ ईस्ट में भी सीओई बनाये जा रहे है।
एसटीपीआई एनजीआईएस योजना के माध्यम से स्टार्ट-अप का भी समर्थन कर रहा है जो पूरे भारत में 12 स्थानों पर संचालित है और जिनमें से 02 उत्तर प्रदेश अर्थात् लखनऊ और प्रयागराज में हैं, अब तक इन 2 स्थानों में 37 स्टार्टअप को एनजीआईएस से समर्थन मिल रहा है और 05 स्टार्टअप को उनके उत्पाद के विकास के लिए सीड फंडिंग के रूप में 25 लाख (प्रत्येक) फंड। प्राप्त हुआ है।
वित्तीय वर्ष 21-22 के लिए उत्तर प्रदेश से आईटी/आईटीएस का कुल निर्यात रु. 32697.63 करोड़, जिसमें 31312.63 करोड़ रुपये का सॉफ्टवेयर निर्यात शामिल है और ईएचटीपी रुपये का निर्यात 1385.00 करोड़ है | वित्त वर्ष 21-22 के लिए एसटीपीआई पंजीकृत इकाई द्वारा यूपी का कुल रोजगार 123114 है। एसटीपीआई पंजीकृत इकाइयों द्वारा किया गया देश से कुल निर्यात 6,28,000 करोड़। रुपये है।
उत्तर प्रदेश में इंडिया बीपीओ प्रमोशन स्कीम (आईबीपीएस) के तहत, 12 सफल इकाइयों को 12 बीपीओ/आईटीईएस इकाइयों की स्थापना के लिए 2770 सीटें आवंटित की गयी हैं। आईबीपीएस इकाइयां उत्तर प्रदेश के 09 स्थानों जैसे प्रयागराज, बैतालपुर, बरेली, फैजाबाद, कानपुर, लखीमपुर, लखनऊ, उन्नाव और वाराणसी में स्थित हैं। उत्तर प्रदेश के लिए कुल सीटें 2770 हैं। आईबीपीएस के तहत इकाइयों द्वारा सूचित कुल रोजगार लगभग 1000 है।
उत्तर प्रदेश में एसटीपीआई का मौजूदा इंफ्रास्ट्रक्चर 83115.67 वर्गफुट है। उत्तर प्रदेश में कुल आगामी इंफ्रास्ट्रक्चर 83849 वर्गफुट है। उत्तर प्रदेश के इनक्यूबेशन केंद्रों से लाभ उठाने वाली/संबद्ध इकाइयों की कुल संख्या 90 है। (मेडटेक और एनजीआईएस सहित)।
उन्होंने कहा कि यूपी अब केंद्र सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार की डिजिटल इंडिया पहल तकनीक का लाभ उठाने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

About News India DT

Check Also

भारतीय चमार महासभा का प्रतिनिधि मंडल मुख्य राजस्व अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

सुल्तानपुर : भारतीय महा चमार महासभा ने संगठन के राष्ट्रीय महासचिव ध्रुव नारायण विश्वकर्मा की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Naat Download Website Designer Lucknow

Best Physiotherapist in Lucknow

Best WordPress Developer in Lucknow | Best Divorce Lawyer in Lucknow | Best Advocate for Divorce in Lucknow