Breaking News
Home / #newsindiadt / अयोध्या की भांति काशी-मथुरा सहित अन्य सभी तीर्थस्थलों पर शराब और मांस पर प्रतिबंध लगाएं

अयोध्या की भांति काशी-मथुरा सहित अन्य सभी तीर्थस्थलों पर शराब और मांस पर प्रतिबंध लगाएं

 

दिनांक : 29.12.2023

*अयोध्या में शराबबंदी की मांग मानने पर योगी सरकार का अभिनंदन !*

*अयोध्या की भांति काशी-मथुरा सहित अन्य सभी तीर्थस्थलों पर शराब और मांस पर प्रतिबंध लगाएं !* – हिन्दू जनजागृति समिति

22 जनवरी 2024 को अयोध्या में होनेवाले श्रीराम मंदिर के उद्घाटन की पृष्ठभूमि में हिन्दू जनजागृति समिति ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री मा. योगीजी से मांग की थी कि अयोध्या में शराब और मांस पर 100 प्रतिशत प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए । इसके लिए कई जगहों पर हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों ने एकजुट होकर आंदोलन भी किया । इसका त्वरित संज्ञान लेते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री मा. योगी आदित्यनाथजी ने अयोध्या के 84 कोसी परिक्रमा यात्रा क्षेत्र में शराब पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया ।

हिन्दू जनजागृति समिति इस प्रशंसनीय निर्णय का स्वागत करती है तथा उत्तर प्रदेश सरकार का आभार भी व्यक्त करती है ।

इसी प्रकार, सभी धार्मिक क्षेत्रों की पवित्रता बनाए रखने के लिए, हिन्दू जनजागृति समिति की मा. योगीजी से मांग है कि अयोध्या की भांति काशी, मथुरा जैसे अन्य सभी तीर्थस्थलों के आसपास शराब और मांस पर 100 प्रतिशत प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए ।

आज देश के अनेक मंदिरों, तीर्थ स्थलों आदि पर लाखों श्रद्धालु आते हैं। ‘पर्यटन विकास’ के नाम पर यहां बड़े पैमाने पर बीयर बार, डांस बार, शराब की दुकानें, चाइनीज फूड की दुकानें, मसाज सेंटर, मटन की दुकानें खोली गई हैं । ऐसे स्थानों पर भक्त वास्तव में देव दर्शन, तीर्थयात्रा, साधना के लिए आते हैं। वे ‘मद्य-मांस’ सेवन या भोग-विलास के लिए नहीं आते हैं। इसलिए, भक्तों को सुविधाएं अवश्य प्रदान की जानी चाहिए; लेकिन ऐसे पवित्र स्थानों की पवित्रता बनी रहनी चाहिए।’ किसी तीर्थस्थल पर जाने के बाद वहां की पवित्रता न रह जाने के कारण क्या हम सचमुच तीर्थस्थल पर आए हैं? ऐसा संदेह उत्पन्न होता है; इसीलिए इससे पहले हरिद्वार और ऋषिकेश में भी स्थानीय प्रशासन ने शराब और मांस पर 100 फीसदी प्रतिबंध लगा दिया था । उसे सर्वाेच्च न्यायालय बनाए रखा है । कुम्भ मेले हरिद्वार और ऋषिकेश में आयोजित किए जाते हैं । इसके लिए वहां बडी संख्या में श्रद्धालु धार्मिक पूजा-अर्चना करने आते हैं । तीर्थयात्रा से इन करोड़ों श्रद्धालुओं की धार्मिक भावनाएं जुडी हुई हैं । इसका प्राथमिकता से विचार किया जाना चाहिए’, ऐसा भी कहते मा. सर्वाेच्च न्यायालयने कहा है । इसी पृष्ठभूमि पर हिन्दू जनजागृति समिति की मांग है कि सभी तीर्थ स्थलों पर शराब और मांस पर 100 फीसदी प्रतिबंध लगाया जाए ।

*श्री. रमेश शिंदे, राष्ट्रीय प्रवक्ते,हिंदु जनजागृती समिती,*

 

About News India DT

Check Also

भारतीय चमार महासभा का प्रतिनिधि मंडल मुख्य राजस्व अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

सुल्तानपुर : भारतीय महा चमार महासभा ने संगठन के राष्ट्रीय महासचिव ध्रुव नारायण विश्वकर्मा की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Naat Download Website Designer Lucknow

Best Physiotherapist in Lucknow

Best WordPress Developer in Lucknow | Best Divorce Lawyer in Lucknow | Best Advocate for Divorce in Lucknow