Breaking News
Home / #newsindiadt / श्योपुर में परिवार ने जिस बेटे का किया अंतिम संस्कार तेरहबी के दिन वो बेटा लोटा घर

श्योपुर में परिवार ने जिस बेटे का किया अंतिम संस्कार तेरहबी के दिन वो बेटा लोटा घर

मध्य प्रदेश : श्योपुर के लहचोडा गांव में अजीबो तरह का मामला देखने को मिला है। लहचोड़ा गांव में जिस युवक की सड़क हादसे में मौत होने के बाद उसके परिजनों ने अपने बेटे की अर्थी को कंधा देते हुए शमशान में गमगीन माहौल में उसका अंतिम संस्कार अपने हाथो करते हुए पूरे विधान से उसकी उसकी आत्मा की शांति के लिए पूजा पाठ करवाया। 12 दिनों तक बेटे की मौत के शोक में घर में मातम रहा और अचानक से वो ही मारा हुआ बेटा अपनी ही तेहरबी में घर आ पहुंचता है। बेटे की दस्तक के साथ ही जिस घर में जवान बेटे की मौत पर मातम मनाया जा रहा था उस घर में खुशियों की बहार आ गई। इधर पूरा गांव भी इस घटना पर अचंभित था जिस बेटे के मरने पर तेरहवीं की जा रही थी वहा खुशी का नजारा मनाया जाने लगा।
दरअसल 13 दिन पहले राजस्थान की पुलिस श्योपुर के लहचोडा गांव के रहने वाले 28 साल के सुरेश शर्मा के घर पहुंचती है। सुरेश के राजस्थान के सुरवाड इलाके में हुए सड़क हादसे में उसकी मौत की खबर परिजनों को देती है। परिजनों को उसकी शिनाख्त के लिए अस्पताल के शवग्रह में बुलाती है। इधर जवान बेटे की सड़क हादसे में मौत की खबर सुनकर सुरेश के परिजन भी बेटे की शिनाख्त के लिए सुरवाड पहुंचते है।  सुरेश से मिलती जुलती हुई लाश को अपने बेटे का शव मानकर लहचोडा गांव लाकर उसका अंतिम संस्कार करते हुए 12 दिन का शोक भी मानते है और 13 वे दिन सुरेश की आत्मा की शांति के लिए तेरहबी की रस्म करते हुए ब्राह्मण और रिश्तेदारों को भोजन करवाने की तयारी में जुटे थे। एसे में पिछले दो महीने से बंद पड़े हुए सुरेंद्र के मोबाइल अचानक से अपनी मां पर फोन पहुंचता है। लेकिन घर वाले उसके जिंदा होने पर यकीन नही करते एसे में सुरेंद्र शर्मा को खुद वीडियो कॉल पर अपने जिंदा होने का सबूत देना पड़ा और सुरेंद्र अल सुबह जयपुर से अपने गांव पहुंचता है। घर में खुद की मौत पर हो रही तेरहवीं पर दंग रह जाता है तो वही सुरेंद्र को जिंदा देख कर पूरे घर वालो के होश भी उड़ जाते है। पूरा गांव भी हैरानी में पड़ जाता है थोड़ी ही देर में इस गलत फहमी की पिक्चर भी साफ हो जाती है। परिजन समझ जाते है उन्होंने गलत फहमी में दूसरे युवक को सुरेंद्र समझकर उसका अंतिम संस्कार कर दिया फॉरन पूरे मामले की खबर राजस्थान पुलिस को देकर सुरेंद्र के जिंदा होने की बात बताई गई। इधर सुरेंद के जिंदा होने पर घर में पसरा हुआ शोक पलभर में खुशियों में बदल जाता है और लोग इसे ईश्वर का चमत्कार भी मान रहे है।

About News India DT

Check Also

भारतीय चमार महासभा का प्रतिनिधि मंडल मुख्य राजस्व अधिकारी को सौंपा ज्ञापन

सुल्तानपुर : भारतीय महा चमार महासभा ने संगठन के राष्ट्रीय महासचिव ध्रुव नारायण विश्वकर्मा की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Naat Download Website Designer Lucknow

Best Physiotherapist in Lucknow

Best WordPress Developer in Lucknow | Best Divorce Lawyer in Lucknow | Best Advocate for Divorce in Lucknow