Breaking News
Home / न्यूज़ / गणतंत्र दिवस हिंसा : दीप सिद्धू की जमानत याचिका पर सुनवाई स्थगित, कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से मांगा जवाब

गणतंत्र दिवस हिंसा : दीप सिद्धू की जमानत याचिका पर सुनवाई स्थगित, कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से मांगा जवाब

दिल्ली की एक अदालत ने बुधवार को गणतंत्र दिवस हिंसा के आरोपी पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धू द्वारा दायर जमानत याचिका पर सुनवाई स्थगित कर दी। गणतंत्र दिवस के मौके पर लाल किले के पास कथित रूप से हिंसा भड़काने के आरोपी दीप सिद्धू ने मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत में  जमानत याचिका दायर की है।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश दीपक डबास ने इस मामले को वापस जिला और सत्र न्यायाधीश (मुख्यालय) को स्थानांतरित कर दिया कि वे इस मामले की सुनवाई करेंगे। कोर्ट ने उल्लेख किया कि सभी संबंधित मामलों को दूसरे न्यायाधीश द्वारा सुना गया है।

इस बीच, दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के जांच अधिकारी ने अदालत को बताया कि अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश (एएसजे) चारू अग्रवाल ने सात सह-अभियुक्तों को जमानत दी है। हालांकि, अदालत ने दिल्ली पुलिस से यह भी कहा है कि वह जल्द से जल्द सिद्धू द्वारा दायर जमानत याचिका पर जवाब दे।

दीप सिद्धू की तरफ से पेश हुए वकील अभिषेक गुप्ता ने अदालत को बताया कि यह एक मीडिया ट्रायल चल रहा है। दीप सिद्धू गलत समय पर गलत जगह पर थे। उन्होंने यह भी कहा कि एएसजे चारू अग्रवाल द्वारा सह-अभियुक्तों को जमानत देने के साथ ही अन्य आदेश भी दिए गए हैं, जो यह साबित करेगा कि पूरे मामले में सिद्धू की भूमिका “कम” थी।

गणतंत्र दिवस पर राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा में शामिल होने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू को 9 फरवरी को हरियाणा के करनाल से गिरफ्तार किया था। गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में लाल किले पर हुई हिंसा के संबंध में दर्ज एफआईआर में दीप सिद्धू और अन्य के नाम शामिल हैं, दिल्ली पुलिस ने पहले कहा कि इस घटना में सिद्धू शामिल था।

दिल्ली पुलिस ने कहा कि 26 जनवरी को कुछ लोगों ने लाल किले पर एक धार्मिक झंडा फहराया था। उनमें से कुछ की पहचान की गई है, जिनमें से दीप सिद्धू मुख्य आरोपी है।

गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान प्रदर्शनकारियों ने कथित रूप से पहले से तय मार्ग का पालन नहीं किया और दिल्ली में प्रवेश करने के लिए बैरिकेड्स तोड़ दिए थे। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर हमला करने के साथ ही राजधानी के कई हिस्सों में तोड़फोड़ की थी। इसके बाद वो लाल किले में भी घुस गए और प्राचीर से झंडे को उखाड़ दिया था।

About News India DT

Check Also

श्योपुर में परिवार ने जिस बेटे का किया अंतिम संस्कार तेरहबी के दिन वो बेटा लोटा घर

मध्य प्रदेश : श्योपुर के लहचोडा गांव में अजीबो तरह का मामला देखने को मिला …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Naat Download Website Designer Lucknow

Best Physiotherapist in Lucknow

Best WordPress Developer in Lucknow | Best Divorce Lawyer in Lucknow | Best Advocate for Divorce in Lucknow